on page seo techniques in hindi

27 Brilliant On Page SEO Techniques In Hindi 2020

SEO हमारे वेबसाइट के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि SEO ही ये बात तय करता है कि आपकी कौन सी पोस्ट गूगल के page के किस स्थान पर जाएगी। इसलिए आज हमने आपको ऐसी 27 On Page SEO Techniques in hindi की जानकारी दी है जिनकी मदद से आप अपनी बलॉग का seo कर सकते हो

अब जिन लगो को नही पता कि SEO क्या होता है तो मैं उनको कुछ साधारण शब्दो में समझता हूँ

SEO का अर्थ?

जब आप google पर कुछ सर्च करते हो तो आपको दो तरह के रिजल्ट मिलते है। पहले में आपको कुछ ads दिखती है और दूसरे में बिना ऐड का रिजल्ट इन दोनों का सबसे अच्छा उदाहरण निचे वाले चित्र में दिया है।

जो दूसरा रिजल्ट है जिसमे की आपको बिना पैसे दिए top ranking मिल रही है तो उसे ही SEO कहते है कहने का मतलब है कि जब आप गूगल के टॉप pages में बिना पैसे दिए अपने कटेंट के बल पर रैंक करते हो तो उसे ही SEO कहते है।

लेकिन SEO करने के लिए आपको कुछ विशेष Techniques का प्रयोग करना पड़ता हैं जिनकी जानकारी हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको उपलब्ध करवाई है।

लेकिन उन SEO Techniques के बारे में जानने से पहले हमें ये जानना होगा कि आखिर SEO होता कितने प्रकार का है तभी हम ये जान पाएंगे कि On Page SEO Techniques में On Page का क्या मतलब है।

SEO कितने प्रकार का होता है?

SEO सिर्फ दो ही प्रकार का होता है जिनमे कि एक को on page seo और दूसरे को off page seo के नाम से जाना जाता है। अब इनके बारे में थोड़ी गहराई से बात करते है कि आखिर इन दोनों का हमारी ब्लॉग में काम क्या क्या होता है।

On Page Seo:- इसका मतलब होता है कि आपके ब्लॉग का टाइटल, डिस्क्रिप्शन, स्पीड, आपका कंटेंट आदि अच्छे होने चाहिए ताकि google जैसे सर्च इंजन को ये पता चल सकें कि आप अपने ब्लॉग के अंदर आखिर साझा क्या करते है।

कहने का मतलब है कि आपके ब्लॉग को अंदर से कैसा होना चाहिए ये ऑन पेज एसीओ के अंतर्गत आता है।

Off page seo:- अब अगर बात करें off page seo की तो आपकी ब्लॉग की ऑथोरिटी को बढ़ाने के लिए जो काम किए जाते है या जिन techniques का प्रयोग किया जाता है तो वह ऑफ पेज एसीओ के अंदर आती है।

Off page seo करने के लिए आप बैकलिंक इत्यादि बनाते है जिससे आपकी ब्लॉग की ऑथोरिटी में बदलाव आता है आगामी पोस्ट में मैं आपको ऑफ page एसीओ की techniques के बारे में बताउँग।

आशा है कि आप समझ गए होंगे कि SEO क्या होता है औऱ seo कितने प्रकार का होता है। अब बात करते है उन 27 On Page SEO Techniques in hindi  की जिनका प्रयोग करके आप अपनी वेबसाइट का seo Improve कर सकते हो।

Recent Posts

 

Table of Contents

27 On Page SEO Techniques in hindi की जानकारी

on page seo techniques in hindi

अगर आप इन एसीओ टेक्नीक्स का अच्छे से अपनी वेबसाइट पर प्रयोग करते हो तो आप आसानी से अपने वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ा सकते हो इसलिए इन सभी को ध्यानपूर्वक पढ़ें औऱ एक एक चीज को अच्छे से समझें।

 

#1. मुख्य शब्दों को Bold करें

bold main keywords

जब कभी आप कोई पोस्ट लिखते है तो उसमें आपको कुछ एक ऐसे कीवर्ड्स या लाइन्स मिलती है जो कि किसी सवाल का जवाव देती है या आपके मुख्य कीवर्ड से सम्बंधित कोई कीवर्ड या लाइन होती है तो उसे बोल्ड जरूर करें।

लाइन को बोल्ड करने का सबसे अच्छा उदाहरण ऊपर की लाइन है मैंने इस लाइन को इसलिए बोल्ड किया है क्योंकि ये इस सवाल “किन कीवर्ड्स को बोल्ड करना चाहिए” का जवाब देती है।

और एक बात जब कभी आप किसी ब्रांड या वेबसाइट का नाम डालते है तो उन्हें भी बोल्ड कर दें क्योंकि ऐसे शब्दों पर लोगों का ध्यान जल्दी जाता है।

 

#2. Title को अच्छी तरह से लिखें

Wrote great post title

जब भी आप अपनी नई पोस्ट के लिए कोई विषय चुनकर उसपे पोस्ट लिखने लगते हो तो आपको एक विशेष बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपकी पोस्ट का टाइटल अच्छा होना चाहिए।

आपकी पोस्ट का टाइटल इतना आकर्षक होना चाहिए कि जब कोई यूजर उसे पढ़ें तो उसे इस चीज का एहसास हो कि इस पोस्ट में उसे जुरूr कुछ अलग और नया सीखने को मिलेगा।

अभी आप ये पोस्ट पढ़ रहे हो इससे पहले अपने भी इसका टाइटल पढ़ा फिर जब आपको लगा कि इसमे कुछ नया औऱ अलग सीखने को मिलेगा तभी आपने इस पोस्ट को पढ़ने का निर्णय लिया और टाइटल पे क्लिक किया।

टाइटल को अच्छा लिखने के लिए मैं आपको एक तरीका बताना चाहूंगा कि हमेशा टाइटल में 1,2,3 मतलब गिनती का प्रयोग जरूर करें क्योंकि 80% लोग इन्ही अंको को देखकर ब्लॉग को पढ़ने आते है ।

जिस पोस्ट को आप पढ़ रहे है इसको भी पढ़ने कई लोग सिर्फ 27 या 2020 को देखकर आए होंगे। जिन्होंने 27 पढ़ा उन्हें लगा कि इसने कुछ नही टेक्नीक्स भी होंगी इसलिए पढ़ लेते है और जो लोग 2020 देखकर आये उन्हें लगा होगा कि इसमे जरूर नई चीजें सीखने को मिलेंगी।

कहने का मतलब है कि दोनों की सोच एक जैसी है लेकिन इस सोच का रास्ता अलग अलग है। इसलिए किसी भी पोस्ट में अंको का इस्तेमाल जरूर करें इससे आपकी रैंकिंग भी काफी अच्छी होगी।

और अगर आप कभी ऐसी पोस्ट लिख रहे हो जिसमें अंको का इस्तेमाल न किया जाना हो तो आप उसके अंत मे 2020(वर्तमान वर्ष) का नाम लिख सकते है।

 

#3. Meta डिस्क्रिप्शन डालें

 

अगर आप पहले से ही SEO से सम्बंधित ब्लॉग्स पढ़ते हो तो आपको मेटा डिस्क्रिप्शन के बारे में पहले से ही पता होगा तो आप जब कभी भी किसी पोस्ट की मेटा डिस्क्रिप्शन डालें तो तो उसे कुछ विशेष तरीके से लिखें और ये बताएं कि आपकी पोस्ट में आपको क्या पढ़ने को मिलेगा।

मेटा डिस्क्रिप्शन डालते समय आप निम्न बातों का अच्छे से ध्यान रखें

  1. कम से कम एक बार मुख्य कीवर्ड को इस्तेमाल करें।
  2. आप अपनी पोस्ट से सम्बंधित अन्य कीवर्ड्स को भी इस्तेमाल कर सकते हो।
  3. Meta डिस्क्रिप्शन कम से कम 160 word की लिखें।
  4. मेटा डिस्क्रिप्शन आपकी पूरी ब्लॉग का एक सार होता है जिसमे आप सिर्फ 2-3 पंक्तियों में ये बताते है कि आपने इस पोस्ट में क्या बताया है।
  5. मेटा डिस्क्रिप्शन में Eye Catching words लिखें ताकि लोगो का ध्यान आपकी पोस्ट की तरफ आकर्षित हो।

 

#4. Images का alt टैग के साथ इस्तेमाल करें

 

अगर आपने google सर्च इंजन की स्टार्टर गाइड पढ़ी है तो आप ये समझ ही गये होंगे कि मैं क्या बोलना चाहता हूं। और अगर आपने नही पढ़ी तो मैं आपको बताता हूँ

इमेज alt टैग क्या होता है।

Images Alt टैग उन टैग्स को कहा जाता है जिनको पढ़कर गूगल को ये पता चलता है कि ब्लॉग में इस्तेमाल की गई फ़ोटो किस टोपिव पर है।

और जब कोई उस टॉपिक पर गूगल images में सर्च करता है तो उसे आपकी फ़ोटो टॉप पर मिलती है लेकिन इसके अलावा ऑल्ट टैग्स का Post के seo पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है।

ऑल्ट टैग को ऐड करते समय निम्न बातों का ध्यान रखें

  1. पहला ऑल्ट टैग में अपने मुख्य कीवर्ड्स को जरूर डालें।
  2. ऑल्ट टैग को शार्ट लिखें।
  3. ऑल्ट टैग में अपनी ब्लॉग का लिंक न डालें बल्कि मुख्य कीवर्ड्स डालें।
  4. अगर एक पोस्ट में एक से ज्यादा photos है तो सभी मे एक ही ऑल्ट टैग मतलब कीवर्ड न डालें सबमे अलग अलग कीवर्ड्स डालें।

 

#5. इंटरनल लिंकिंग करें

 

Internal linking से आपकी पोस्ट का से बहुत हद तक इम्प्रूव होता है और ये आपकी ब्लॉग पोस्ट की on page seo को बढ़ाने में भी हेल्प करती है।

इंटरनल लिंकिंग का मतलब होता है अपनी ही ब्लॉग की अन्य पोस्ट को अपनी अन्य पोस्ट में ऐड करना। कहने का मतलब है अपनी साइट की एक पोस्ट को दूसरी पोस्ट से जोड़ना ही internal linking कहलाता है।

Internal linking करते समय निम्न बातों का ध्यान रखें।

  • एक पोस्ट के लिंक को एक ही पोस्ट में बार बार न डालें।
  • जब आपकी कोई पोस्ट दूसरी पोस्ट से सम्बंधित हो तभी लिंकिंग करें नही तो न करें।
  • मुख्य कीवर्ड्स पर लिंकिंग न करें।
  • जिन words में आप लिंक डालते हो उनका रंग बदल दें ताकि यूजर को ये जानने में आसानी हो कि ये किसी अन्य पोस्ट का लिंक है जोकि इसी पोस्ट से सम्बंधित है।

 

#6. Outbound लिंकिंग करें

 

किसी दूसरे की पोस्ट का लिंक अपनी पोस्ट में देना ही Outbound linking कहलाता है। और ये तब किया जाता है जब आपको अपने यूजर को आपकी पोस्ट से सम्बंधित अन्य टॉपिक की जानकारी देनी हो लेकिन उस टॉपिक पर आपकी कोई भी पोस्ट न हो।

लेकिन Outbound लिंकिंग का एक ओर फायदा भी है कि इससे आपकी पोस्ट का on पेज seo इम्प्रूव होता है।

Outbound लिंकिंग करते समय निम्न बातों का ध्यान रखें।

  • फालतू पोस्ट का लिंक एड न करें।
  • Outbound लिंक add करते समय ये जरूर देख लें कि जिस पोस्ट का आपने लिंक ऐड किया है वो अच्छी है भी या नही।
  • अगर आपको एक पोस्ट में 10 बार Outbound लिंक्स ऐड करने की जरूरत पड़ती है तो आप 10 बार ही लिंक ऐड कीजिये क्योंकि इससे आपके seo को नुकसान नही होगा।

 

#7. पोस्ट से रिलेटेड Video डालें

 

गूगल ने अभी तक ये चीज खुद से तो नही बताई की विडोए डालने से seo पे कोई प्रभाव पड़ता है या नही लेकिन अगर इस पर किये गए शोधों की माने तो वीडियो डालने से आपकी साइट का on page seo जल्दी इम्प्रूव होता है।

क्योंकि जब आप अपनी पोस्ट में आपकी पोस्ट से ही सम्बंधित वीडियो डालते हो तो यूजर उसे देखता है और जब देखता है तो वो आपकी उस पोस्ट पर तक बना रहता है जब तक उसको अच्छी तरह से जानकारी मिल न जाएं।

ऐसा होने से आपकी ब्लॉग का bounce रेट कम होता है जिससे गूगल आपकी उस पोस्ट को ज्यादा वैल्यू देता है और उसे ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचाने की कोशिश करता है।

इसलिए हमेशा अपने पोस्ट में एक video जरूर ऐड करें इससे आपका seo इम्प्रूव होता है और रैंकिंग भी इससे आपकी ब्लॉग की गूगल के वीडियो वाले सेक्शन में भी रैकिंग इम्प्रूव होती है।

 

#8. इन्फोग्राफिक्स का इस्तेमाल करें।

 

अगर आप अभी भी अपने पोस्ट्स में इन्फोग्राफिक्स का इस्तेमाल नही करते तो आप बहुत बड़ी गलती कर रहें है क्योंकि इन्फोग्राफिक्स अब एक on page seo के रैंकिंग फैक्टर है।

एक इन्फोग्राफिक्स में आप आप अपनी पोस्ट के मुख्य 5-6 पॉइंट्स को कवर कर सकते है इससे भी आपकी ब्लॉग का बाउंस रेट कम होता है।

और इससे यूजर को बहुत हेल्प भी मिलती है इससे आपकी वेब रँकिंग तो इम्प्रूव होती ही है और साथ मे इमेज ranking भी इम्प्रूव होती है।

जब भी आप कोई इन्फोग्राफिक्स को अपने किसी पोस्ट में ऐड करते है तो उस पर अपनी ब्लॉग का लिंक या नाम जरूर डालें ताकि जब कोई आपके उस इन्फोग्राफिक्स को अपने ब्लॉग पर डालें तो उसे आपकी ब्लॉग का लोगो दिख।

आप इन्फोग्राफिक्स का HTML कोड शेयर करके वहां से बैकलिंक्स भी बना सकते हो।

 

#9. Permalink में मुख्य कीवर्ड को डालें

 

गूगल ये खुद भी बोल चुका है कि अगर आप बेहतर रैकिंग चाहते है तो अपने पोस्ट के यूआरएल में अपने मुख्य कीवर्ड को जरूर डालें।

ऐसा करने से गूगल आपके उस यूआरएल के कीवर्ड्स को भी read करता है और वो अगर सर्च किये गए कीवर्ड्स से मिलता जुलता हो तो उसे टॉप रँकिंग देता है।

इस तरह से आप लिंक में मुख्य कीवर्ड्स को डालकर अपनी पोस्ट को टॉप में रैंक करवा सकते है।

 

#10. लम्बी और जानकारी देने वाली पोस्ट लिखें।

 

लम्बी पोस्ट लिखने का मतलब ये न समझे कि बस लम्बी पोस्ट लिखनी है और गूगल को खुश रखना है एक बात बता दूं कि गूगल अपनी खुशी से ज्यादा यूजर की खुशी देखता है।

इसलिए सिर्फ पोस्ट को लंबा न लिखे बल्कि इसमे बहुत अच्छी और नई जानकारी दे ताकि यूजर को आपकी पोस्ट को पढ़ने में मजा आए और वो ज्यादा देर तक आपकी ब्लॉग पर टिका रह सकें।

ऐसा होने से आपकी वेबसाइट की सर्च इंजन रैंकिंग बढ़ती है औऱ इससे आपका on पेज seo भी इम्प्रूव होता है। औऱ यह आपकी सबसे बेस्ट on page seo techniques में से एक है।

तो अगर आप अपनी पोस्ट या ब्लॉग का ऑन page एसीओ करना चाहते हो तो लम्बी और अधिक जानकारी देने वाली पोस्ट पब्लिश करें।

 

#11. पहले 100 शब्दो मे कीवर्ड डालें

keywords in first 100 words

जब गूगल आपकी पोस्ट को क्रॉल करता है तो पहले 100 वर्ड्स पर ज्यादा फोकस करता है इसलिए जब भी आप कोई पोस्ट लिखे तो पहले 100 वर्ड्स में अपनी पोस्ट के मुख्य कीवर्ड को जरूर डालें।

अगर आप चाहो तो मुख्य कीवर्ड को पहली लाइन में डालकर और उसे सिर्फ bold करके औऱ ? लगाकर लिखना शुरू कर सकते हो। इससे आपकी रैंकिंग काफी हद तक इम्प्रूव होंगी।

 

#12. आपके मुख्य कीवर्ड से सम्बंधित और कीवर्ड्स भी डालें

 

जब कभी भी आप किसी पोस्ट का मुख्य कीवर्ड ढूंढते हो तो आपको उसके जैसे कुछ और कीवर्ड्स भी दिखतें होंगे जोकि सर्च अलग तरीके से किये जाते है लेकिन वो आपकी पोस्ट के मुख्य कीवर्ड से सम्बंधित होते है।

पोस्ट लिखते समय आपको 5 ऐसे ही कीवर्ड्स को ढूंढना है जो आपकी पोस्ट के मुख्य कीवर्ड से मेल खाते हो। और उन 5 कीवर्ड्स का पोस्ट में अच्छे से प्रयोग करना है।

ऐसा करने से आपका ऑन page एसीओ इम्प्रूव होगा और आपकी गूगल सर्च इंजन रैंकिंग्स में भी बदलाब आएगा।

 

#13.पोस्ट के अंत मे भी मुख्य कीवर्ड को एक बार जरूर दोहराएं

 

जब कभी भी आप अपनी पोस्ट का अंत करते है तो पोस्ट के अंत के 100 वर्ड्स में अपने मुख्य कीवर्ड का इस्तेमाल जरूर करें।

ये भी एक एक on page seo technique है जिसका प्रयोग करके आप अपनी रैंकिंग को अच्छा कर सकते जो।

 

#14. कीवर्ड stuffing न करें

 

कीवर्ड stuffing का मतलब होता है कि बार बार पोस्ट में कीवर्ड्स का प्रयोग करना। जैसा कि नए bloggers करते है।

जब कोई नई पोस्ट लिखी जाती है तो उसमें बार बार मतलब की 1000 शब्दो की पोस्ट में जैसे 30 बार मुख्य कीवर्ड्स या सम्बन्धित कीवर्ड्स का इसे करना ही कीवर्ड stuffing कहलाता है।

कीवर्ड stuffing black hat seo techniques में आती है इसलिए इसे कभी भी न करें क्योंकि ऐसा करने से गूगल आपकी साइट को penalize भी कर सकता है। इसलिए ऐसा न करें।

कीवर्ड stuffing करने से आपकी ब्लॉग का on page seo भी effect होता है औऱ स्टार्टिंग में आपकी रैंकिंग टॉप पर जा सकती है लेकिन बाद में गूगल खुद गिरा देता है क्योंकि आज के टाइम में गूगल बहुत स्मार्ट हो गया है।

 

#15. लोगो के लिए लिखें बॉट्स के लिए नही

bots in seo

जब आप कोई पोस्ट लिखते हो तो उसे लोगो के लिए पहले लिखें औऱ SEO के लिए बाद में क्योंकि अगर आपका कंटेंट पहले से ही यूजर के लिए फायदेमंद होगा तो गूगल अपने आप उसे टॉप पर ले जाएगा।

पोस्ट लिखते समय आप सिर्फ लिखने पर ही ध्यान दें seo पर नही की यहां क्या करना और वहां क्या करना है जिसे रैंकिंग बढ़ें। हमेशा पोस्ट का seo पोस्ट लिखने के बाद ही करें पोस्ट लिखते समय न करें।

 

#16. Gifs का प्रयोग करें

gif seo

गूगल हमेशा उस चीज को यूज़र्स को प्रोवाइड करता है जो उन्हें पसंद है। आज के समय मे गिफ्स एक बहुत उपयोग हो रहा है।

सभी सोशल मीडिया पलर्टफ़ोर्म पर गिफ्स जम कर सेंड किए जाते है तो अब गूगल भी इसमे पीछे नही रहा गूगल भी अब सर्च रिजल्ट्स में गिफ्स को महत्ब दे रहा है।

गिफ्स में आपकी भावना छुपी हुई होती है जो कि सिर्फ कुछ seconds में होती है गिफ्स ऐड करने से लोगो का मनोरंजन भी होता है औऱ आपकी साइट का on page seo भी।

इसलिए अपनी हर पोस्ट में लगभग 2-4 गिफ्स जरूर ऐड करें।

 

#17. Page लोडिंग Speed को बढ़ाएं

website loading speed

गूगल ये पहले ही बता चुका है कि fast पेज लोडिंग स्पीड on page seo के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

गूगल यूज़र्स को अच्छा से अच्छा कंटेंट देना चाहता है और अच्छे कंटेंट में फ़ास्ट पेज लोड स्पीड भी एक फैक्टर है। गूगल उन साइट्स को ज्यादा एहमियत देता है जिसकी पेज लोड स्पीड अच्छी होती है।

इसलिए आप अपनी साइट की लोडिंग स्पीड को अच्छा करें अगर आपको नही पता कि वेबसाइट की स्पीड कैसे बढ़ाई जाती है तो नीचे दी गई पोस्ट पढ़ें।

 

#18. खुला खुला लिखे

 

अपने आर्टिकल में अच्छी स्पेसिंग करें जिससे यूजर को पढ़ने में आसानी हो और ऐसा करने से आपकी पोस्ट भी काफी सुंदर लगती है।

आप एक पेरेग्राफ में 30-45 शब्द लिखें इसे आपका on पेज seo इम्प्रूव होगा।

 

#19. वेबसाइट को मोबाइल friendly बनाये।

mobile friendly website seo

 

जितनी ज्यादा आपकी वेबसाइट मोबाइल friendly होगी उतना अच्छा आपका on पेज seo होगा।

गूगल कई बार बोल चुका है कि आप अपने वेबसाइट को मोबाइल friendly बनाइये इससे आपकी रैंकिंग भी इम्प्रूव होगी और यूजर को भी अच्छा लगेगा।

क्योंकि आज के टाइम में मोबाइल का सबसे ज्यादा प्रयोग हो रहा है और गूगल इसी कारण से मोबाइल friendly वेबसाइट बनाने को बोलता है।

 

#20. Heading टैग्स का इस्तेमाल करें

 

मुझे आशा है कि ये बात आप पहले से ही जानते होंगे कि हमे अपनी ब्लॉग के आर्टिकल में हैडिंग का इस्तेमाल करना चाहिए।

हम जब भी कोई पोस्ट लिखते है तो उसमे हमे he,he,h4 headings का hierarchal way में इस्तेमाल करना चाहिए। मैंने h1 को इस्तेमाल करने के लिए इसलिए नही कहा क्योंकि आपकी पोस्ट का टाइटल पहले से h1 में होता है।

लेकिन अगर आप चाहो तो h1 का प्रयोग एक से ज्यादा बार कर सकते हो। और अगर आपकी कोई heading बनती है तो उसे h2 में डालें औऱ अगर उस हैडिंग के अंदर एक और हैडिंग बनती है तो उसे h3 में ले।

और जब आपकी एक ओर हैडिंग आए तो उसे फिर से h2 में लें। तो इस तरह से आप हैडिंग्स का प्रयोग कर सकते हो।

 

#21. Podcast का इस्तेमाल करें

 

पॉडकास्ट एक तरह का ऑडियो होता है जिसमें आप लोगो को सिर्फ बोलकर समझाते है।

पॉडकास्ट को ऐड करने से आपका on पेज seo इम्प्रूव होता है। जब आप पॉडकास्ट को पोस्ट में ऐड करते है और आपके यूज़र्स जब उसे सुनते है तो वो आपकी ब्लॉग पर ज्यादा टाइम स्पेंड करते है।

ज्यादा टाइम स्पेंड करने से आपकी ब्लॉग का बाउंस रेट घटता है औऱ on page seo इम्प्रूव होता है इसलिए कम से कम एक पोस्ट में एक पॉडकास्ट जरूर ऐड करें।

 

#22. ब्लॉग को अपडेट करते रहे

 

अगर आप अपने ब्लॉग में रेगुलर आर्टिकल नही डालते मतलब कि अपने ब्लॉग को रेगुलर अपडेट नही करते तो गूगल आपकी साइट को एक dead साइट मान सकता है।

जीससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग डाउन हो सकती है इसलिए एक हप्ते में कम से कम एक आर्टिकल जरूर डालें।

अगर आप अपने ब्लॉग को अपडेट नही करते तो इससे आपकी ब्लॉग के रेगुलर रीडर्स भी कम हो जाते है या एक भी नही बचता औऱ आपका seo भी जीरो हो जाता है। इसलिए साइट को रेगुलर अपडेट करते रहें।

 

#23. Long- tail कीवर्ड्स का इस्तेमाल करें

 

आप जब भी कोई पोस्ट लिखते हो तो उसमें Long- tail कीवर्ड्स का इस्तेमाल जरूर करें इससे आपकी वेबसाइट का on page seo इम्प्रूव होता है।

Long- tail कीवर्ड्स को ढूंढने के लिए आप गूगल suggest का इस्तेमाल कर सकते है या किसी अन्य tool का भी प्रयोग कर सकते है जो Long- tail कीवर्ड्स निकाल कर देता हो।

 

#24. LSI कीवर्ड्स का इस्तेमाल करें

 

LSI कीवर्ड्स आपकी पोस्ट के मुख्य कीवर्ड से सम्बंधित होते है लेकिन उनका उनका नाम अलग होता है और अर्थ एक ही होता है।

जब आप अपनी पोस्ट में LSI कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते है तो इससे आपकी ब्लॉग की रैंकिंग इम्प्रूव होती है एंड ट्रैफिक में भी सुधार आता है।

 

25. Sitemap बनाकर उसे सबमिट भी जरूर करें।

 

Sitemap आपकी ब्लॉग के लिए बहुत जरूरी होता है इससे पहले कि मैं आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी दूँ मैं sitemap से रिलेटेड अपना एक experience share करना चाहूंगा।

मेरा है ब्लॉग है जिसपर मैं एक अलग टॉपिक में आर्टिकल लिखता हूँ और जो कि बहुत useful भी होते है लेकिन इस साइट पर ट्रैफिक नही आ रहा था ये करीब एक महीने पहले की बात है।

मैंने बहुत बार ये जानने की कोशिश की मेरी साइट पर कम ट्रैफिक आ रहा है और जब मैंने गूगल सर्च कंसोल में देखा तो मैंने sitemap submit नही किया था।

और मैंने फिर तुरन्त sitemap को सबमिट किया औऱ सिर्फ 4 दिनों बाद जब मैंने देखा तो मेरा ट्रैफिक 24% बढ़ चुका था।

अब आप समझ ही गए होंगे कि sitemap आपकी ब्लॉग के लिए कितना जरूरी है। इससे आपकी साइट का on पेज seo जल्दी इम्प्रूव होता है। इसलिए अपनी ब्लॉग का sitemap बनाकर उसे जरूर सबमिट करें।

 

#26. नेविगेशन को बेहतर बनाएं

simple blog navigation

नेविगेशन का मतलब होता है कि आपकी वेबसाइट में को चीज कहाँ पर होनी चाहिए है तय करना। नेविगेशन on page seo techniques में आती है।

इसलिए अपनी साइट के नेविगेशन को अच्छा और सुंदर बनाए ताकि वो यूजर की समझ मे भी आ जाये और गूगल की भी।

 

#27. अंत मे लोगो के सवालों के जवाब दें

 

इसका मलतब है कि पोस्ट के अंत मे FAQ को ऐड करें इससे लोगो को उनके सवालों के जवाब एक ही पोस्ट में मिलेंगे और वो आपके साथ अधिक समय तक attach रहंगे।

FAQ ऐड करने से आपकी पोस्ट की लेंथ भी बड़ी हो जाती है और गूगल में टॉप FAQ pages में आने के अवसर भी बढ़ जाते हैं। इसलिए faq को जरूर ऐड करें।

 

FAQ

What is on page SEO techniques in hindi?

on page SEO techniques उन techniques को कहा जाता है जिनकी मदद से हम अपनी वेबसाइट का on page SEO करते हैं।

जैसे अगर मैंने image में alt tag का इस्तेमाल किया तो ये एक on page SEO techniques है। इसके अलावा इसके अंदर ओर भी कई सारी techniques आती है जिनका प्रयोग करके हम अपनी वेबसाइट का on page SEO कर सकते है और अपनी वेबसाइट की सर्च इंजन में रैंकिंग बढ़ा सकते है।

What is the best SEO strategy for 2020 in hindustan?

2020 की बेस्ट SEO strategy निम्न है

Long tail कीवर्ड्स – जब कभी भी आप किसी पोस्ट का टाइटल लिखें तो उसे बड़ा करके लिखे इसके बारे में पूरी जानकारी हमने ऊपर पोस्ट में दी है।

ऑल्ट टैग फ़ोटो में – जब भी आप किसी इमेज को अपनी पोस्ट में अपलोड करते है तो उसके ऑल्ट टैग में अपना मुख्य कीवर्ड जरूर डालना क्योंकि गूगल images को नही पड़ता बल्कि उनके ऑल्ट टैग्स को भी पढ़ता है। इसके बारे में पूरी जानकारी हमने ऊपर पोस्ट ने दे रखी है।

गेस्ट पोस्ट – गेस्ट पोस्ट करने से आपको बैकलिंक्स मिलते है और साथ मे ट्रैफिक भी गेस्ट पोस्ट से आपको जो बैकलिंक्स मिलते है उनसे आपकी साइट की da pa इम्प्रूव होती है।

What are the top three SEO strategies in hindi?

Keyword research – Keyword research सबसे बेस्ट SEO strategy है जिसका प्रयोग करके आप अपनी वेबसाइट की रैंकिंग को बहुत ज्यादा इम्प्रूव कर सकते हो।

बैकलिंक्स – बैकलिंक्स SEO की दूसरी सबसे खास strategy है ये seo में off पेज seo में आती है। लेकिन इसका टॉप रैंकिंग पाने में बहुत बड़ा हाथ होता है।

लंबी पोस्ट – लम्बी पोस्ट लिखने के आपको बहुत फायदे मिलते है जितनी पोस्ट लंबी होगी उतना ज्यादा आपके seo को फायदा होगा लेकिन इसका ये मतलब नही है कि पोस्ट को सिर्फ लम्बा कर देना है वो वैल्यू प्रोवाइड करे या न करे।

लम्बी पोस्ट को लिखने से मतलब है कि एक ही पोस्ट में बहुत सारी जानकारी दे देना किसी एक टॉपिक की ताकि यूजर किसी दूसरी वेबसाइट पर न जाए और वो आपका रेगुलर रीडर बन जाये।

 

निष्कर्ष –

ये थी कुछ 27 On Page SEO Techniques in hindi  जो कि किसी भी blogger के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आप अपने ब्लॉग का seo करना नही जानते तो तो आपकी ब्लॉग शायद ही रैंक हो और इनमे on page seo का सबसे बड़ा हाथ होता है ये गूगल को बताता है कि आपने अपनी ब्लॉग पोस्ट में क्या क्या लिखा है।

लेकिन एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि पहले यूजर के लिए लिखें उसके बाद पोस्ट का seo करें। कभी भी seo के लिए पोस्ट मत लिखिए क्योंकि ये आपकी सर्च इंजन रैंकिंग को उठाने की बजाए गिरा भी सकती है और गूगल खुद भी कहता है कि पहले यूजर के लिए लिखे उसके बाद सर्च इंजन के लिए।

आप गूगल की इस बात का जितना अधिक पालन करेंगे आपकी SEO रैंकिंग उतनी बढ़िया होगी। पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि जॉयदा लोगो को 27 On Page SEO Techniques in hindi की जानकारी मिल सके।

2 thoughts on “27 Brilliant On Page SEO Techniques In Hindi 2020”

  1. अपने बहुत ही अच्छी जानकारी साँझा की है आपके इस पोस्ट को पढ़कर बहुत अच्छा लगा और इस ब्लॉग की यह खास बात है कि जो भी लिखा जाता है वो बहुत ही understandable होता है.

    Reply

Leave a Comment