WiFi क्या है ? What is WiFi in Hindi

22

WiFi Kya Hai ? What is WiFi in Hindi – इंसान की जिंदगी में कई सारे बदलाव आते हैं भले ही वो Technology को लेकर क्यों ना हो। Internet के आने के साथ ही Technology में काफी सारे बदलाव होने लगे और हम दिन-ब-दिन काफी आगे बढ़ने लगे लेकिन क्या आपको याद है Internet भी हमारे साथ साथ ही आगे बढ़ता जा रहा था और कई सारी नई नई तकनीकी आती जा रही । इसी को देखते हुए आज हम WIFI Technology का बात करेंगे |

एक समय ऐसा था जब हम Internet का उपयोग करने के लिए केबल का Use करते थे। लेकिन हम इंसान जितना हो सके उतना Devlope होने की कोशिश करते हैं इसी के कारण कुछ वैज्ञानिकों को केबल का Use करके Internet को Use करना पसंद नहीं था और वह अपने दिमाग को लेकर चल दिए एक नए आविष्कार की खोज में जिससे कि Internet वायरलेस हो सके।

WiFi क्या है ? What is WiFi in Hindi 1

काफी कड़ी मेहनत के बाद और आ रहे बदलाव के बाद आखिरकार एक Computer साइंटिस्ट ने इस मुकाम को हासिल कर ही दिखाया और आखिरकार हमें प्राप्त हुई एक ऐसी वायरलेस Technology जिसके जरिए हम Internet को अपने Device में एक्सेस कर सकते थे।

आज हम उस Technology को Wifi के नाम से जानते हैं, लेकिन अभी इतना विकसित हो चुका है कि बच्चा बच्चा भी इसके बारे में जानता है। आज मैं आपको इस शानदार पोस्ट में Wifi के बारे में ही बताऊंगा ! आज हम जानेंगे कि Wifi क्या है और यह कैसे काम करता है ?

Wi – Fi क्या है इसके फायदे और उपयोग क्या है,वाई-फ़ाई का इस्तेमाल क्यों होता है,वाई-फाई के नाम से जुडा तथ्य,वाई-फाई कैसे काम करता है,WiFi Technology का इतिहास,Meaning of WiFi in Hindi,What Is Wifi Connection In Hindi, वाई-फ़ाई फ्रीक्वेंसी और बैंड्स के बारे में,वाई फाई का पूरा नाम क्या है ?

What Is Wifi in Hindi ? Wifi क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में

वाई-फ़ाई का पूरा नाम Wireless Fidelity है जो कि एक प्रसिद्ध Wireless Technology है जिसके जरिए हम अपने Device में बिना किसी केबल के द्वारा ही Internet को एक्सेस कर पाते हैं। यह एक ऐसी शानदार Technology है जिसके द्वारा आज हम बिना केबल के अपने Mobile या Laptop में Internet हासिल कर पाते हैं और उसका उपयोग कर पाते हैं।

Technology आप इतनी डेवलप्ड हो चुकी है कि अगर आपसे कहा जाए कि इसे बंद करके वापस केबल वाला जमाना लाएंगे तो आपको कुछ समझ नहीं आएगा क्योंकि अधिकतर लोगों को तो पता भी नहीं है कि आज से कुछ सालों पहले Internet चलाने के लिए कितनी मेहनत करनी पड़ती थी और उन पुराने जमाने के केबलों का Use करना पड़ता था।

Wifi एक ऐसा Comunication है जिसके जरिए हम एक सीमित स्थान तक Internet से जुड़ सकते हैं। इसके लिए हमें अपने Device को वाई-फ़ाई से कनेक्ट करना पड़ता है ताकि वह वाई-फ़ाई का लाभ उठा पाए। वाई-फ़ाई के अब कई सारे उपयोग हो चुके हैं हम इसके द्वारा अपनी चीजों को तेजी से Transfer कर सकते हैं तो कई अन्य चीजों को अपने Device के साथ कनेक्ट करके काफी सारे काम कर सकते हैं।

Internet को एक्सेस करने के अलावा वाई-फ़ाई के एक अन्य काम का उदाहरण यह भी है कि हम अपने Mobile में Xender के जरिये बड़ी-बड़ी फिल्म और वीडियो आदि को तेजी से शेयर कर पाते हैं।

Wifi एक ऐसा स्टैंडर्ड है जिस को Followe करके हम अपने Computer के Device को वायरलेस Internet से जोड़ते हैं और Internet का उपयोग करते हैं। अभी के समय में जितने भी Device आते हैं उन सबने वाई-फ़ाई का पूरा पूरा सपोर्ट रहता है यानी कि हम उन्हें अपने मुख्य Device के जरिए वाई-फ़ाई से कनेक्ट कर पाते हैं ।

इसके उदाहरण टैबलेट, स्मार्ट टीवी, स्पीकर यहां तक कि हमारे घर का एक स्टैंडर्ड AC भी है। उम्मीद करता हूं कि आप जान गए होंगे कि वाई-फ़ाई क्या है अब हम यह जानेंगे कि आखिरकार यह वाई-फ़ाई काम कैसे करता है ?

How Wifi Works in Hindi ? Wifi काम कैसे करता है ? पूरी जानकारी हिंदी में

हम Wifi का Use हर जगह करते हैं चाहे वह हमारा ऑफिस हो या हमारा घर हो या किसी गार्डन में हम बैठे हैं। हम हर जगह वाई-फ़ाई का Use कर सकते हैं और इसका हम फायदा उठाते भी हैं।

Wifi का Use करने के लिए हम को सबसे पहले एक ऐसे Device की जरूरत होती है जो कि वाई-फ़ाई को क्रिएट करने की वाई-फ़ाई को पैदा करें क्योंकि अगर वाई-फ़ाई होगा ही नहीं तो हम उसका Use कैसे करेंगे। वाई-फ़ाई को क्रिएट करने के लिए हमें कैसे इलेक्ट्रिक Device की जरूरत होती है जो कि Wifi के सिंग्नल छोड़ सके।

हम ऐसे Device को आजकल के जमाने में Router कहते है जो कि Internet से कनेक्ट होकर वाई-फ़ाई नेटवर्क को क्रिएट करता है। Router नाम का यह डिवाइज Informations को ब्रॉडबैंड कनेक्शन के द्वारा हासिल करते है। इंफॉर्मेशंस को हासिल करने के बाद इसके अंदर जो Components होते है उसे यह एक प्रकार की Radio Waves में कन्वर्ट कर देता है जिसे हम सामान्य भाषा में वाई-फ़ाई के सिग्नल कहते हैं।

इसी प्रक्रिया के फलस्वरुप एक ऐसा एरिया बन जाता है जिसमें हम Wifi सिग्नल यानी कि Radio Waves को एक्सेस कर पाते है क्योंकि यह केवल एक सीमित क्षेत्र तक ही फैल सकती है।

यह छोटा सा एरिया Wlan कहलाता है जिसे आप वायरलेस लोकल एरिया नेटवर्क भी कह सकते हैं। सामान्य भाषा में लोग इसे WiFi Zone कहते हैं। अब इस छोटे से एरिया में यानी कि वाई-फ़ाई जोन में जो भी Device होंगे वह वाई-फ़ाई से कनेक्ट हो सकते हैं। Wifi से कनेक्ट होने के लिए इन Device में Wireless Adapter पहले से ही Inbuilt होना जरूरी है।

आजकल सभी स्मार्ट फोन और स्मार्ट गैजेट्स में यह वायरलेस एडाप्टर मौजूद होते हैं। रेडियो सिग्नल के अधिक मजबूत ना होने के कारण WiFi जोन एक सीमित क्षेत्र में ही काम कर पाता है। यह अधिकतर 10 से 20 मीटर का हो सकता है यानी कि आप अपने पूरे घर और घर से थोड़े से दूर यानी कि अगल बगल वाले घर में Router का वाई-फ़ाई एक्सेस कर सकते हैं।

आपको बता दें कि रेडियो वेव्स में एक ऐसी क्षमता होती है जिसकी मदद से वह Easily किसी भी दीवार के पार जा सकते हैं। यानी कि आप इन्हें मजे में टेक्निकल भूत भी कह सकते हैं। यह बिल्कुल वैसे ही होता है जैसे कि कोई भंडारा लग रहा हो और आप उसके जितना पास होंगे आपको उतना ही माल मिलेगा, यह एक फनी एग्जांपल है लेकिन वाई-फ़ाई की स्पीड को समझाने के लिए काफी सक्षम है।

मेरा मतलब यह है कि वाई-फ़ाई क्रिएट करने वाले Device यानी कि रूटर के आप जितने पास रहेंगे उतनी ही आपकी Internet की स्पीड रहेगी और जितना दूर रहेंगे उतनी ही कम स्पीड आपको मिल पाएगी। क्योंकि आप वाई-फ़ाई पहले से काफी बेहतर हो चुका है तो वैज्ञानिकों ने इसके कई नए-नए उपयोग निकाल लिए हैं और उपयोग लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं।

आजकल के जमाने में तो वाई-फ़ाई को हम रिमोट का काम करने को भी कह सकते हैं यानी कि Wifi रिमोट का काम भी कर सकता है। समय के साथ-साथ इस क्षेत्र में काफी जगह बढ़ोतरी होती जा रही है। मेरे यहां केवल नेटवर्क को एक्सेस करने के लिए यानी कि Internet को प्राप्त करने के लिए होता था और अब यह विभिन्न कामों के लिए होता है।

आजकल की रोबोट Technology भी वाई-फ़ाई बेस्ट हो गई है जिसे हम वाई-फ़ाई के द्वारा कनेक्ट कर पाते हैं अगर हमें अपने रोबोट यानी की मशीन को आसपास के क्षेत्र में ही काम में लेना है लेकिन अगर हमें इसे दूर से काम लेना है तो हमें इसके लिए किसी मजबूत नेटवर्क का सहारा लेना पड़ता है।

22 कॉमेंट्स

  1. Hello dear Ravi Kumar bhai, ek sota sa confusion ko dur kar do please. Mere ek friend ne adsens ke liya apply kiya tha okay. Woh aprrowed bhi Ho chuka hai. But ab baat Yeh hai ki yodi uss blog se themes change karu toh adsens me koi bad effect toh nahi hogi na? Pehle free wala themes tha. ab premium wala lagane chahrahe hai. Thank you Ravi Kumar bhai hindistartup zindabaad.

  2. बहुत ही बढ़िया जानकारी शेयर की है आप ने…
    बजट में कुछ अहम और जरुरी बातो पर गौर नहीं किया गया है लेकिन उम्मीद करते है आगे सब ठीक ठाक होगा…

जवाब दे

अपना कोमेंट लिखे
अपना नाम लिखे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.