Ram की पूरी जानकारी – What is Ram in Hindi , How Does RAM Work in Hindi ?

0

Hello dosto, मेरा नाम प्रदीप गुप्ता है. मैं NamaskarHindi पर Technical jankari aur Educational jankari संबंधित पोस्ट लिखता हूं ,मैं रवि कुमार साहू सर का आभार व्यक्त करता हूं जो उन्होंने मुझे अपने वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट करने का अवसर दिया,

तो चलिए शुरु करते हैं, इस आर्टिकल में हम जानेंगे की RAM Kya Hai और RAM हमारे काम कैसे और कहा आता है, आज के इस आधुनिक युग में हर कोई कंप्यूटर लैपटॉप या फिर कम से कम फोन का तो इस्तेमाल करता ही है, रैम हमारे इन्हीं उपकरणों में इस्तेमाल किया जाता है ।

Ram क्या है ? What is Ram in Hindi

RAM को अंग्रेजी में रेंडम एक्सेस मेमोरी कहा जाता है, लेकिन इतना जान लेने से ही आपको यह नहीं समझ में आ सकता है कि इसका उपयोग क्या है, इसके नाम से आपको सिर्फ इतना समझ आता है कि ये मेमोरी है , लेकिन रैम में कोई भी चीज स्टोर नहीं होती है ।

रैम के अंदर टेंपरेरी एप्लीकेशन डाटा स्टोर होता है, उपकरण/एप्लीकेशन के स्टॉप होते ही वह डाटा भी चला जाता है, रैम एक चिप जैसा दिखता है जोकि सेमीकंडक्टर और ट्रांजिस्टर की मदद से बनाया जाता है, रैम को सीपीयू का ही एक भाग माना जाता है इन दोनों के बिना कोई भी डिवाइस नहीं चल सकता है, रैम कुछ इस तरह दिखता है :-

Ram

RAM कैसे काम करता है ? How Does RAM Work in Hindi ?

दोस्तों हमारे कंप्यूटर या फिर मोबाइल में जो भी डाटा स्टोर होता है वह उसके मेमोरी में Store होता है, कंप्यूटर में या फिर मोबाइल में मेमोरी दो तरह की होती है इंटरनल मेमोरी और एक्सटर्नल मेमोरी जब हम अपना डिवाइस ऑन करते हैं तब रैम सारे एप्लीकेशन के सॉफ्टवेयर को चालू कर देता है ।

रैम और सीपीयू एक दूसरे से कनेक्टेड होते हैं और यह डाटा का आदान-प्रदान बहुत ही फास्ट होता है, क्योंकि रैम एक बहुत ही फास्ट मेमोरी जैसा काम करता है । अगर आपके डिवाइस में रैम ना हो तो आपका डिवाइस बिल्कुल काम नहीं करेगा ।

जैसे ही हम कोई भी एप्लीकेशन स्टार्ट करते हैं वह एप्लीकेशन Ram द्वारा एक्सेस की जाती है और फिर रैम द्वारा संचालित की जाती है । और फिर वह एप्लीकेशन सुचारू रूप से हमें डिस्प्ले पर दिखता है, इसे हम एक उदाहरण के द्वारा समझने की कोशिश करते हैं ।

मान लीजिए एक अलमारी है जिसमें बहुत सारी फाइल्स रखी हुई है और हमें किसी एक फाइल की जरूरत है तो हम उस फाइल को  अलमारी से लेंगे अपना काम करेंगे और फिर वापस रख देंगे, तो यहां पर जो अलमारी है वह मेमोरी की तरह काम कर रही है और हम जो काम कर रहे हैं यह काम रैम करता है ।

Types of RAM in Hindi – RAM कितने प्रकार के होते है ?

रैम कंप्यूटर/मोबाइल का प्राइमरी मेमोरी होता है, रैम को दो हिस्सों में बांटा गया है, दोनों ही तब तक काम करते हैं जब तक इनके अंदर पावर सप्लाई हो रहा हो पावर कट होते ही यह काम करना बंद कर देते हैं । Hardisk की तरह सेव नहीं करता ।

###1 SRM Static Random Access Memory – Static का मतलब होता है स्थिर यहां पर मेमोरी ज्यादा समय तक स्टोर रहती है इसीलिए cache memory के लिए  इस्तेमाल किया जाता है। और बार-बार हम को रिफ्रेश नहीं करना पड़ता है और यह की DRAM तुलना में ज्यादा फास्ट होता है और महँगा भी होता है ।

###2 DRAM Dynamic Random Access Memory – डायनेमिक मेमोरी को सही से काम करने के लिए बार-बार रिफ्रेश करने की जरूरत पड़ती है, इसकी स्पीड कम होती है इसीलिए इसे बार-बार रिफ्रेश करने की जरूरत पड़ती है । DRAM को कंप्यूटर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है. यहां मेन मेमोरी के लिए  इस्तेमाल किया जाता है ।

Ram Computer/Mobile ke liye Etna jaruri kyu hai ?

दोस्तों रैम एक बहुत ही फास्ट मेमोरी जैसा काम करता है जिसके कारण कंप्यूटर मोबाइल के अंदर सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन रन होता है, कंप्यूटर या मोबाइल में रैम कम होने के कारण डिवाइस की स्पीड कम हो जाती है

रैम के बिना कोई भी कंप्यूटर मोबाइल नहीं चल सकता है क्योंकि रैम ही एप्लीकेशन या सॉफ्टवेयर को randomly एक्सेस करता है । रैम को डिवाइस की प्राइमरी मेमोरी भी कहा जाता है, अगर डिवाइस में रैम कम हो तो डिवाइस हैंग मारने लगता है क्योंकि उसकी कार्य शक्ति कम हो जाती है, रैम का साइज फोन मेमोरी से हमेशा कम होता है लेकिन यह बहुत ही फास्ट होता है मार्केट में आपको अलग-अलग प्रकार के रैम मिल जाएंगे जैसे कि 1gb, 2gb, 4gb, 6gb, 8gb, etc.

जवाब दे

अपना कोमेंट लिखे
अपना नाम लिखे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.